मॉडर्न बनने के चक्कर में चुद गई

मैं कशिश 19 साल की मस्त माल हु, ऐसा मैं नहीं कह रही हु, सारे मेरे स्कूल के दोस्त कहते है. तब से मुझे भी यकीं हो गया की मैं मस्त माल हु, फिर क्या था दोस्तों मैं फुले नहीं समाने लगी. और अपनी स्टैण्डर्ड ऑफ़ लिविंग को ठीक करने लगी. बालों में मेहंदी, डभ साबुन लगाने लगी. अपने चेहरे को फेसिअल और ब्लीच से चमकाने लगी. क्या बताऊँ दोस्तों, कुछ ही दिनों में और भी खिल गई. मेरी चूचियां जबरदस्त तरीके से उभार लिया, और मेरी चूतड़ गजब की लचक खाने लगी. दोस्तों अब तो मैं एक खूबसूरत मॉडर्न लड़की बन गई. गली मुहल्ले के लोग मुझे घूर घूर कर देखने लगे. यहाँ तक की अंकल और दादा जी टाइप लोग भी अपने नजर से मुझे पिने लगे.

मुझे अच्छा लगने लगा, जब सब लोग मेरी जिस्म को निहारते तो मुझे अच्छा लगता था. अब मैं लड़के ढूंढने लगी. पर कई सारे सीरियल देख कर डर भी लगता था जैसे की मैं सावधान इंडिया की कई शो में देखि की लड़के या आदमी ब्लैकमेल करते है. इसलिए मुझे लगा की कही मेरी ज़िन्दगी बर्बाद ना हो जाए. पर कुछ कर नहीं पा रही थी. क्यों की जवानी का जोश छाया हुआ था. मैं इन्टरनेट पर एडल्ट फिल्मे देखने लगी. नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे जाकर रोज रोज कहानियां पढ़ने लगी. दोस्तों मैं भरपूर जवान हो गई थी क्यों की मेरे हार्मोन्स समय से पहले ज्यादा हो गया था क्यों की मैं दिन रात सेक्स सेक्स सेक्स बस सेक्स के बारे में सोचते रहती. पर मुझे पापा का डर था की कही दो चार चपेट ना लगा दे इसलिए मैं पापा के पास थोड़ी कम हीरोइन बनती थी.

मेरे पापा जी का ट्रांसफर हो गया था आज से एक महीना पहले. घर में मैं मेरा भाई और मेरी माँ जो की एक स्कूल में टीचर है. मैं अब फुल मजे लेने लगी क्यों की घर पर पापा जी नहीं थे. माँ ज्यादा कुछ कहती नहीं थी. और रहा भाई तो मैं उसकी दीदी थी. तो वो क्या कहेगा. मैं उसको थोड़े पैसे वैसे देते रहती थी ताकि उसको लगे की मैं बड़ी बहन हु. अब मेरा स्टाइल थोड़ा और बढ़ गया था. मैं रात को छोटे छोटे स्कर्ट में रहने लगी. रात को अक्सर बिना ब्रा के ही रहने लगी. मेरी चूचियां का निप्पल बाहर से साफ़ साफ़ दिखाई देने लगा. मैं मटक मटक कर चलती ही, और ये मेरा रंडीपन मेरा भाई घूर घूर कर देखने लगा. दोस्तों मैं और मेरा भाई रात में एक ही कमरे में सोते थे. पर अलग अलग बेड पर, माँ दूसरे कमरे में सोती थी. मैं रोज रात को नॉनवेज स्टोरी पे स्टोरी पढ़ती फिर मूवी देखती, फिर अपने चूत को सहलाते सहलाते सो जाती, उसके बाद मैं सारे कपडे उतार कर सोने लगी. जब से सर्दी आई.

रजाई के अंदर नंगे होती, क्यों की मैं कही पढ़ी थी की मॉडर्न लड़कियां अपने सारे कपडे उतार कर सोती है. फिर क्या था दोस्तों अब मैं अपनी चूचियां मसलती और चूत को सहलाती, मेरा भाई शायद सब बात समझ गया था. क्यों को वो देर रात अपने रजाई से मुझे थोड़ा से मुह निकालकर झांकते रहता था. एक दिन की बात है, उसने कहा दीदी, मैंने कही पढ़ा है की रात में नंगे सोते है जो लोग मॉडर्न होते है और रईस होते है क्या ये सच है. मुझे लगा की शायद ये मुझे देख लिया है इसलिए बोल रहा है. मैंने भी कह दिया हां, मैं भी पढ़ी हु, फिर रात में वो भी नंगे ही सोने लगा. अपने रजाई के अंदर, दोस्तों हम दोनों रात में रजाई के अंदर ही सारे कपडे उतार देते, फिर वही हस्तमैथुन करते.

मेरा भाई अब रोज अपना मुठ मारने लगा था और मैं भी अपनी चूत को सहलाने लगी. थी. मेरा भाई जब डिस्चार्ज होता था तब वो आह आह करता था और फिर शांत हो जाता था. एक दिन रात को करीब दो बजे मेरे बेड के पास आया, और मेरे रजाई में सो गया. दोस्तों मैं डर गई, क्यों की मैं नंगी थी और वो भी नंगा था. मुझे कुछ भी समझ नहीं रहा था मैं पूछी की या बात है तुम यहाँ कैसे आया तो उसने कहा. दीदी मैंने एक डरावना सपना देखा, की कुछ लोग आपको पकड़ कर सेक्स कर रहे है. मैं हँस पड़ी और बोली कहा मेरी ऐसी किस्मत, मैंने कहा जा अपने बेड पर ही सो जा. क्यों की उसका लण्ड खड़ा था मैं पूछी जब डर गया तो तेरा हथियार कैसे खड़ा है, तो वो बोला की सपने में लोग आपकी चूचियां मसल रहे थे. और चूत में ऊँगली कर रहे थे. और एक बन्दा आपके गांड में लण्ड घुसा रहा था और आप आह आह आह कर रही थी. इसलिए मेरा लण्ड खड़ा है.

और उसने मेरे स्तन पर हाथ रख दिया. और हौले हौले से सहलाने लगा. उसने कहह दीदी आप भी नंगी सोती हो ये मुझे पता है. मैं भी नंगा ही सोता हु और ये मुझे आपने ही सिखया है. और मैंने उसके लण्ड को अपने हाथ में पकड़ ली. बोली मेरा भाई कितना बड़ा हो गया है मुझे आज ही पता चला है. अरे तेरा लण्ड तो सनी लेओनी के हस्बैंड के तरह लग रहा है. तो मेरा भाई बोला आप भी तो सनी लेओनी से कम नहीं लगती हो. और फिर हम दोनों एक दूसरे के होठ को चूमने लगे और वो मेरी चूचियों को दबाने लगा. मुझे पहली बार किसी लड़के से ऐसा मौक़ा मिला था. मेरा भाई मेरे बदन को चाटने लगा. और मेरे मुह से सिसकारियां निकलने लगी.

मैंने कहा भाई आज मुझे खुश कर दो. उसने कहा हां दीदी अब चिंता नहीं करो हम दोनों ही मॉडर्न है. जब तक हम दोनों की शादी नहीं होती तब तक हम दोनों एक दूसरे का ख्याल रखेंगे, उसके बाद मेरा भाई मेरे ऊपर चढ़ गया और फिर अपना लण्ड मेरे चूत पर लगा कर जोर से पेल दिया. उसका लण्ड मेरे चूत में समा गया, वो मेरी होठ को चूसते हुए मेरी चूचियों को दबाता और जोर जोर से मेरे चूत में धक्के देता. दोस्तों खूब चुदी मैं पूरी रात, फिर उसके बाद तो हम दोनों एक साथ ही सोते है और एक दूसरे को खूब चुदाई करते है. और चुदवाते है. आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी जरूर रेट करें और नॉनवेज पर अगली कहानी जल्द ही पोस्ट करुँगी. इसलिए थोड़ा इंतज़ार करें.